मंगलवार, 14 दिसंबर 2010

इतने समय तक अनुपस्थित रहने के लिए, आप सभी से क्षमा चाहता हूँ | दरअसल एक मित्र (?) ने हमारा अकाउंट हैक कर लिया था| किसी प्रकार पुनः प्राप्त कर पाया हूँ सो फिर उपस्थित हूँ | यदि इन दिनों किसी ब्लॉगर मित्र को मेरे नाम से कोई अभद्र टिप्पणी या मेल प्राप्त हुआ हो तो क्षमा चाहूँगा |
जल्द ही अगली रचना पोस्ट करूँगा | आशा है आपका प्यार मिलेगा |
धन्यवाद |

6 टिप्‍पणियां:

  1. koi baat nahi bhai.....ye duniya hai yahan to ye sab chalta rehta hai......kam se kam tum wapas laut aaye janab khuda ka khair hai....

    ham aapka besabri se intezaar kar rahe the..

    aapka mitr.....JISKO AAP BHALI BHAANTI JAANTE HAIN......hehehe..:D

    उत्तर देंहटाएं
  2. you told me late else the hacker itself got hacked and then we both are enjoying his account.... ha ha ha

    उत्तर देंहटाएं

लोकप्रिय पोस्ट